Sunday, June 16, 2024

कोयला भंडारण सुविधाओं का निर्माण अब होगा जरुरत के अनुसार ;

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

07 AUG 2023

कोयला खानों में कोयले का भंडार कोयले के उत्पादन और उसके प्रेषण (डिस्पैच) के आधार पर अलग-अलग होता है। कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) और सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लिमिटेड (एससीसीएल) पिटहेड में कोयले का भंडार पिछले पांच वर्षों में 31 मार्च तक और 2023 31 जुलाई तक निम्नानुसार है:

मिलियन टन (एमटी) में आंकड़े.

साल

 

2018-19 2019-20 2020-21 2021-22 2022-23 2023-24*

(31 जुलाई तक)

सीआईएल 54.15 74.89 99.13 60.85 69.33 52.03
एससीसीएल 1.609 3.189 5.255 4.712 5.148 3.912

कोयले के भंडारण स्थान की कमी के कारण कोयला उत्पादन में कोई कटौती नहीं हुई है क्योंकि खानों से निकाले गए कोयले के लिए पर्याप्त भंडारण सुविधाएं उपलब्ध हैं और जरूरत पड़ने पर नए कोयला भंडारण स्थान का सृजन किया जाता है। स्व-दहन/सहज तापन को रोकने के लिए, कोयला कंपनियों द्वारा तदनुसार कोयले के उठाव की योजना बनाई जाती है।इसके अतिरिक्त, ऐसे खतरों से निपटने के लिए खानों में पर्याप्त निवारक उपाय किए जाते हैं और अग्निशमन व्यवस्था उपलब्ध है।

यह जानकारी केन्द्रीय कोयला, खान और संसदीय कार्य मंत्री  प्रल्हाद जोशी ने आज राज्यसभा में एक प्रश्न के  उत्तर में दी।

Latest Articles