Monday, May 27, 2024

स्वच्छता के जश्न में जुटेंगे देश के जवान और प्रतिष्ठित संस्थान

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर साल 2014 में शुरू हुआ स्वच्छ भारत मिशन हर साल स्वच्छता के स्तर को नई ऊंचाइयों पर ले जा रहा है। पहली बार 2 अक्टूबर 2014 को गांधी जयंती के दिन मनाए गए स्वच्छ भारत दिवस ने पूरे देश को एक सूत्र में पिरोने का अनूठा संदेश दिया था। इसके बाद से साल दर साल यह अभियान जनभागीदारी के मामले में मिसाल कायम करता आ रहा है। इतना ही नहीं, अब यह स्वच्छता मिशन किसी एक दिन तक सीमित नहीं रह गया है, बल्कि पूरे साल नियमित अंतराल पर स्वच्छता की दिशा में परिवर्तनकारी कदम बढ़ाए जा रहे हैं।

इन्हीं उपलब्धियों का जश्न मनाते हुए अब हर साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के साथ ‘स्वच्छता पखवाड़ा – स्वच्छता ही सेवा’ मनाया जा रहा है, जो विशाल जनभागीदारी का गवाह बन रहा है। अब एक बार फिर जब इस मिशन को नौ साल पूरे होने जा रहे हैं, तो विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थान, धार्मिक संगठन और देश के जवान स्वच्छता दिवस के लिए एकजुट हो रहे हैं। इसी कड़ी में स्कूली बच्चों से लेकर कॉलेजों के युवा छात्र और देशभर के शहरों में तमाम मशहूर हस्तियां तक स्वच्छता पखवाड़े में जनमानस का नेतृत्व करेंगे। देश भर में स्वच्छता अभियानों में 12 राज्यों के मुख्यमंत्री, नौ राज्यपाल एवं उपराज्यपाल आज 1 अक्टूबर को सफाई अभियानों का हिस्सा बनेंगे।स्वच्छता दिवस के उपलक्ष्य में देश भर के शहरों में महासफाई अभियान चलाने की तैयारी है। इसके अंतर्गत विभिन्न ऐतिहासिक संग्रहालयों, स्मारकों और किलों की सफाई की जाएगी, जिसके लिए विभिन्न संगठन आगे आए हैं। देश के विभिन्न रक्षा क्षेत्रों से जुड़े जवान भी स्वच्छता मिशन का प्रतिनिधित्व करेंगे, जिसमें सीआईएसएफ, बीएसएफ और असम राइफल्स के जवान भी शामिल होंगे। इस्कॉन मंदिर संघ स्वच्छता अभियान के लिए मंदिर की सफाई की जिम्मेदारी संभालेगा और धार्मिक स्थलों के आसपास के क्षेत्रों को गोद ले रहा है।

रामकृष्ण मठ श्रमदान के लिए कई क्षेत्रों को गोद ले चुका है। पर्वतारोही प्रदीप सांगवान की हीलिंग हिमालय संगठन उत्तराखंड में हिमालय पथ को साफ करने के लिए आगे आया है। स्कूलों और कॉलेजों में स्वच्छता अभियान के हिस्से के रूप में माता अमृतानंदमयी का अम्मा फाउंडेशन देश भर में स्वच्छता के लिए श्रमदान करेगा। अपने-अपने शहरों में नामी खेल और कला क्षेत्र से जुड़ी हस्तियां सफाई अभियानों का प्रतिनिधित्व करेंगी, जिनमें ओलंपियन पीवी सिंधू, विशाखापत्तनम में कर्नम मल्लेश्वरी और पद्मश्री सुदर्शन पटनायक आदि शामिल होंगे। अन्य प्रतिष्ठित संगठन जैसे फिक्की, सीआईआई, क्रेडाई, विभिन्न एनजीओ जैसे श्री सत्य साईं लोक सेवा, लायंस क्लब, रोटरी क्लब, यूनिसेफ, आगा खान फाउंडेशन, रामकृष्ण मिशन आदि 1 अक्टूबर को इस स्वच्छता मिशन में शामिल होंगे। स्वच्छता पखवाड़े में अब तक 8 लाख से ज्यादा आयोजन हो चुके हैं और भागीदारी की संख्या निरंतर बढ़ती जा रही है।

Latest Articles