Friday, July 19, 2024

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष माहरा का बड़ा बयान! बोले- पार्टी के अंदर स्लीपर सेल

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

उत्तराखंड कांग्रेस में कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। जिसका नतीजा है कि कांग्रेस पार्टी उत्तराखंड की पांचों लोकसभा सीटें हार चुकी है। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के बड़े नेता चुनाव लड़ने से मना कर दिया जो कांग्रेस के लिए हार का कारण माना जा रहा है। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल भी पार्टी के अंदरूनी मामले को कई बार हाई कमान के सामने उठा चुके हैं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि पार्टी के अंदर कुछ ‘स्लीपर सेल’ हैं जो पार्टी गतिविधियों के खिलाफ काम कर रहे हैं।

कांग्रेस के ही लोगों ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस के कुछ लोग पार्टी के अंदर ही भाजपा के लिए काम कर रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा है कि जो बात आज उठ रही है उसको वह एक साल पहले पार्टी हाईकमान के सामने उठा चुके हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर में कुछ स्लीपर सेल’ हैं जो पार्टी गतिविधियों के खिलाफ काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी के अंदर स्लीपर सेल से उतना खतरा नहीं है जितना की अंदर खाने की गतिविधियां हैं वों बंद होनी चाहिए। पार्टी की आपसी लड़ाई जब बंद हो जाएगी तो ‘स्लीपर सेल’ अपने आप खत्म हो जाएंगे। करन माहरा से पूछा गया कि आपको अध्यक्ष बने हुए काफी दिन हो चुके हैं लेकिन आपकी टीम अभी तक तैयार नहीं हो पाई है जिस पर उन्होंने कहा कि टीम के लिए हाईकमान के पास दो बार लिस्ट भेज चुके हैं आखिरी निर्णय हाईकमान को करना है। अगर पार्टी के अंदर गुटबाजी बंद हो जाए तो आगे सब ठीक हो जाएगा। वहीं चारधाम यात्रा में यात्रियों की बढ़ती मौतों की संख्या पर उन्होंने प्रदेश सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। कोविड वैक्सीन के इफेक्ट के चलते हार्ट संबंधी बीमारियां बढ़ गई हैं। भारी संख्या में चारधाम में यात्री आ रहे हैं कई यात्रियों को ऑक्सीजन की कमी हो रही हैं। लेकिन सरकार ने इसके लिए कोई व्यवस्था नहीं की है। सरकार को चाहिए कि लेह लद्दाख के तर्ज पर ऑक्सीजन का पार्लर खोलें, जिससे लोगों को ऑक्सीजन कम होने पर उनको ऑक्सीजन उपलब्ध हो सके। लेकिन सरकार इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। जिसका कारण है कि चार धाम यात्रा में हार्ट अटैक से मौतों की संख्या बढ़ रही है और सरकार को चाहिए कि वहां पर कार्डियोलॉजी के डॉक्टरों को तैनात करें।

 

Latest Articles