Tuesday, April 23, 2024

धामी सरकार खत्म करेगी उत्तराखंड का पलायन

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

उत्तराखंड भारत का एक खूबसूरत राज्य है और इस खूबसूरत राज्य मे सबसे बड़ी समस्या पलायन की है। युवाओं को रोजगार न मिलने के चलते उत्तराखंड के युवा लगातार दूसरे राज्यों की ओर पलायन करते हुए दिखाई दे रहे हैं और इस पलायन को रोकने के लिए धामी सरकार पर्यटन स्थल में नए-नए रोजगार के द्वार खोलने में लगी है।

उत्तराखंड की खूबसूरती में पर्यटन स्थलों ने चार चांद लागा रखे हैं। लेकिन इस खूबसूरत राज्य में रोजगार न होने के चलते पलायन की समस्या भी खूब देखी जाती है। उत्तराखंड निवासी रोजगार पाने के लिए उत्तराखंड से लगातार पलायन कर दूसरे राज्यों में जाकर बस जाते हैं। जिसके चलते उत्तराखंड की संस्कृति पर भी खतरा मंडराता हुआ दिखाई दे रहा है। और इसी पलायन की समस्या को रोकने के लिए लगातार धामी सरकार जमीनी स्तर पर काम करती हुई दिखाई दे रही हैं। युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए पर्यटक स्थलों से नए-नए रास्ते निकले जा रहे हैं उसी क्रम में एक बार फिर कॉर्बेट नेशनल पार्क में युवाओं को रोजगार के उद्देश्य से तराई पश्चिमी वन प्रभाग के आमपोखरा रेंज में नया पर्यटन जोन हाथीडगर तैयार किया गया है। जिस का शुभारंभ कुमाऊं के मुख्य वन संरक्षक दीप चन्द्र आर्य और रामनगर विधायक दीवान सिंह बिष्ट द्वारा किया गया। जोन का दायरा 32 किलोमीटर है। इसमें सुबह-शाम की पाली में 25-25 जिप्सियां सफारी के लिए भेजी जाएंगी। डबल इंजन की सरकार उत्तराखंड के पलायन की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। रामनगर से भाजपा विधायक दीवान सिंह बिष्ट का कहना है कि यह रोजगार के अवसर है पूर्व में भी एक पर्यटन जोन खोला गया था और एक पर्यटन जोन आज खोल दिया गया है और जल्दी एक और खोल दिया जाएगा। उत्तराखंड की संस्कृति और पलायन को रोकने के लिए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह नए-नए प्रयास तो कर रहे हैं और पर्यटन स्थलो नए-नए रास्ते भी खोज रहे हैं। उत्तराखंड वासियों को रोजगार देने की कोशिश कर रहे हैं। बस अब देखने वाली बात होगी की उत्तराखंड के मुखिया के प्रयास पलायन रोकने के लिए कितने सही साबित होते है।

 

Latest Articles