Thursday, June 20, 2024

Haridwar Dharam Sansas|रिज़वी के बाद दो और लोगों के एफआईआर में नाम

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

उत्तराखंड पुलिस ने रविवार को 17-19 दिसंबर के बीच हरिद्वार में आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम में नफरत फैलाने वाले भाषणों से संबंधित पहली सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) में दो और लोगों के नाम जोड़े, जहां मुसलमानों के खिलाफ नरसंहार और हिंसा के लिए आह्वान दिया गया था.

The Hindu अख़बार के मुताबिक उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया की कई लोगों की जांच की गई है और जांच जारी है। मामले में अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। अशोक कुमार ने कहा कि आतंकवाद विरोधी गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के प्रावधानों को मौजूदा मामले में जोड़ने पर कानूनी रूप से जांच की जा रही है। उन्होंने बोला,“यूएपीए लागू किया जा सकता है या नहीं यह जांच का हिस्सा है। यह मामले के तथ्यों पर निर्भर करेगा और हम कानूनी रूप से इसकी जांच करा रहे हैं।”

23 दिसंबर को दर्ज की गई प्राथमिकी में केवल वसीम रिज़वी उर्फ ​​जितेंद्र नारायण त्यागी को ही आरोपी के रूप में नामित किया गया था क्योंकि यह एक स्थानीय निवासी द्वारा दायर की गई शिकायत पर आधारित थी, जिसने केवल “वसीम रिज़वी और अन्य” का उल्लेख किया था। उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष रिजवी ने हाल ही में हिंदू धर्म अपना लिया था।

पुलिस ने रविवार को अन्नपूर्णा मां उर्फ ​​पूजा शकुन पांडेय के नाम जोड़े; निरंजिनी अखाड़े का ‘महामंडलेश्वर’; हिंदू महासभा के महासचिव; और बिहार निवासी धर्मदास महाराज के ऊपर प्राथमिकी दर्ज कराई है।

Latest Articles