Tuesday, April 23, 2024

दिल्ली के डिप्टी सीएम ने बीजेपी पर लगाया आरोप, दिल्ली के सरकारी स्कूलों को बंद कराना चाहती केंद्र सरकार

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
नई दिल्ली: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शनिवार को केंद्र सरकार और BJP पर जमकर हमला बोला. उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि केंद्र सरकार दिल्ली के सरकारी स्कूलों को बंद कराना चाहती है. यही वजह है कि वो अब दिल्ली के स्कूलों में भ्रष्टाचार की बात कर रही है. इनकी सारी बातें झूठी हैं, दिल्ली के स्कूलों में शानदार काम हुआ है लेकिन ये चाहते हैं कि इन स्कूलों को बंद किए जाएं ताकि बच्चों को मजबूरी में प्राइवट स्कूलों में पढ़ना पड़े. मनीष सिसोदिया ने बीते दिनों उनके आवास पर पड़े सीबीआई के रेड का भी जिक्र किया उन्होंने कहा कि मेरे आवास पर दस दिन पहले सीबीआई ने रेड डाला था, लेकिन इतना समय बीत चुका एजेंसी आज तक ये नहीं बता पाई की मेरे घर से उन्हें क्या कुछ मिला. पहले बीजेपी वालों ने शराब घोटाले का आरोप लगाया लेकिन जब उसमें कुछ नहीं मिला तो अब वो स्कूलों में भ्रष्टाचार होने की बात कर रहे हैं. इनकी सारी बाते झूठीं हैं.
उन्होंने  कहा कि आज दिल्ली में महज 20 फीसदी बच्चे ही प्राइवेट स्कूल की फीस देने की स्थिति में है, ये बाकि के 80 फीसदी बच्चों को परेशान करना चाहते हैं. बीजेपी वालों की रुचि स्कूल के अंदर के भ्रष्टाचार को खत्म करने में नहीं है वो बस निजी स्कूलों को ज्यादा से ज्यादा बढ़ावा देना चाहते हैं और इसके लिए वो सरकारी स्कूल को बंद कराने पर तुले हैं. 
 
मनीष सिसोदिया  ने आगे कर कहा कि देश में 2014 से बीजेपी की सरकार है. आप पता कर लीजिएगा – इस दौरान इन्होंने कई सरकारी स्कूलों को बंद करवाया जबकि निजी स्कूलों को खुलवाया. आज दिल्ली में ये एफआईआऱ करके सरकारी स्कूल को बंद करने का मिशन बढ़ाना चाहते हैं. अगर मैं सिर्फ 2015 से 2021 तक आंकडे आपके बताऊं तो देश भर में 72 हजार 747 सरकारी स्कूलों को केंद्र और भाजपा की सरकार ने बंद करवाए हैं.
 
इनमें से 26 हजार उत्तर प्रदेश में  और 22 हजार एमपी में हैं. इस समय में 11 हजार 739 प्राइवेट स्कूल खोले गए, ये स्कूल  बीजेपी नेताओं द्वारा संचालित किया जा रहा है. वहीं अगर केजरीवाल और दिल्ली सरकार की बात करें तो 2015 के बाद से हमारी सरकार ने 700 नए स्कूल बिल्डिंग बनाई है, आज ये सरकारी स्कूल दिल्ली के अन्य प्राइवेट स्कूल को भी टक्कर देती है. हम मानते हैं कि हमने खर्चा किया है लेकिन ये खर्चा पुराने सरकारी स्कूल को बेहतर बनाने के लिए किया गया है. मनीष सिसोदिया ने आगे कहा कि सीबीआई और ईडी तो इनके बहाने हैं. मैं जब पहले ही नहीं डरा तो अब क्या ही डरूंगा. इन्होंने चार साल पहले भी रेड करवाई थी, कुछ मिला था क्या ? 40 विधायकों के खिलाफ मामले दर्ज किए, क्या मिला? इन्हें सिर्फ सीबीआई और ED की रेड करना आटा है, हमें स्कूल बनाना आता है. 

Latest Articles