Friday, March 1, 2024
spot_imgspot_img

देहरादून ज्वैलरी लूटकांड: 20 करोड़ की डकैती का पायलट गिरफ़्तार! मुठभेड़ में लगी गोली

- Advertisement -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

बीते 9 नवंबर को राजधानी दून के रिलायंस ज्वैलरी शोरूम डकैती मामले में दून पुलिस और एसटीएफ ने बड़ी कार्रवाई की है। डकैती की घटना में शामिल दो लाख रुपए के इनामी आरोपी विक्रम कुशवाहा को बीती 8 दिसंबर को यूपी के पीलीभीत के कजरी निरंजनपुर कस्बे से अरेस्ट किया गया। जिसके बाद पूछताछ के लिए उसे देहरादून लाया गया था। इसके बाद देर रात विक्रम को देहरादून प्रेमनगर के जंगल एरिया में हथियार बरामदगी के लिए ले जाया गया। आरोप है कि इस दौरान आरोपी ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया।

डकैती के आरोपी विक्रम कुशवाहा द्वारा पुलिस टीम पर हमला करने पर उसका जवाब दिया गया। पुलिस के अनुसार उनकी टीम ने भी जवाबी फायरिंग. मुठभेड़ के दौरान आरोपी विक्रम के पैर में गोली लग गई और वो घायल हो गया। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से एक लोडेड पिस्टल बरामद की है। दून पुलिस अबतक इस मामले में आठ आरोपियों की गिरफ्तारी कर चुकी है। रिलायंस ज्वैलरी शोरूम मामले में घटना को अंजाम देने वाले पांच आरोपियों में से मुख्य आरोपी अभिषेक को पुलिस द्वारा बिहार से गिरफ्तार किया गया था। उससे पूछताछ में डकैती कांड में आरोपी प्रिंस और विक्रम कुशवाहा के अलावा राहुल और अविनाश के शामिल होने की जानकारी पुलिस को मिली थी। पहले ही प्रिंस और विक्रम कुशवाहा पर पुलिस ने 02-02 लाख का इनाम घोषित किया था। वहीं घटना में फरार चल रहे 02 अन्य आरोपी राहुल और अविनाश पर एसएसपी देहरादून द्वारा 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था।

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि देहरादून पुलिस और एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए दो लाख के इनामी विक्रम कुशवाहा को यूपी से गिरफ्तार किया गया था। देर रात विधिक कार्रवाई और हथियार बरामदगी के दौरान उसने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। जवाब में पुलिस की फायरिंग में वह घायल हो गया। देर रात गहन पूछताछ और कानूनी कार्रवाई के बाद हथियार की रिकवरी के लिए पुलिस उसे प्रेमनगर के जंगल एरिया ले गई थी। इस दौरान आरोपी विक्रम ने पुलिस पर रिकवरी की प्रक्रिया के दौरान जानलेवा हमला दिया। संयुक्त टीम ने बचाव में फायरिंग की जिसके बाद डकैती के आरोपी विक्रम के पैर में गोली लग गई. टीम ने आरोपी विक्रम की निशादेही पर एक लोडेड पिस्टल बरामद की है अब तक डकैती की घटना और साजिश में शामिल आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

बताते चलें कि 9 नवंबर को जब उत्तराखंड अपना स्थापना दिवस मना रहा था और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू देहरादून में थीं तो दिन दहाड़े रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में 20 करोड़ से ज्यादा की डकैती पड़ी थी। बिहार के कुख्यात गिरोह ने देहरादून स्थित रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में डकैती डाल दी थी। बंदूकों की नोक पर डकैतों ने 20 करोड़ रुपए से अधिक के जेवरात और नकदी लूट ली थी ये उत्तराखंड की सबसे बड़ी डकैती थी। यूपी से गिरफ्तार विक्रम कुशवाहा बिहार जेल में बंद अभियुक्त शशांक और सुबोध के कहने पर अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर रिलायंस ज्वैलरी शोरूम में डकैती की घटना को अजांम देने आया था। घटना से पहले 31 अक्टूबर को आरोपी बिहार से अपनी गैंग के अन्य साथियों रोहित और अन्नू के साथ स्विफ्ट डिजायर कार से अंबाला आया था। अंबाला में उतरने के बाद वो सीधे बिजनौर पहुंचा। वहां 5 और 6 नवंबर को उसे 02 व्यक्तियों द्वारा घटना में प्रयोग आर्टिगा कार दी गई थी। आर्टिगा में सवार होकर वो देहरादून आया था। 9 नवंबर को घटना से पहले आरोपी प्रिंस द्वारा उसे और घटना में शामिल अन्य अभियुक्तों को असलहे उपलब्ध कराये गये थे। घटना को अंजाम देने के लिये आरोपी प्रिंस, अभिषेक और 02 अन्य लोगों के साथ शो रूम में गया था और आरोपी विक्रम आर्टिगा कार के साथ शो रूम के बाहर रुका था. घटना को अंजाम देने के बाद वे सभी अलग-अलग रास्तों से सहसपुर की ओर निकले और रास्ते में शशांक और सुबोध के कहने पर उनके द्वारा सेलाकुई में सुनसान इलाके में अपनी-अपनी गाड़ियां छोड़ दी। अपने पास मौजूद असलहे को जंगल में छुपाकर अलग-अलग माध्यमों से वो सभी देहरादून से बाहर निकल गये। आरोपी विक्रम ने बताया कि घटना में लूटा गया माल अविनाश और राहुल ले गए थे जिसके संबंध में आरोपी से पूछताछ की जाएगी।

Latest Articles